Category of Bare Act Name of the Act Year of Promulgation
Criminal Laws Indian Penal Code 1860
Act Number Enactment Date Chapter Number
45 06.10.1860 16
Chapter Title Sub-Chapter Legislated by
  - Parliament of India

Whoever commits culpable homicide not amounting to murder shall be punished with 1[imprisonment for life], or imprisonment of either description for a term which may extend to ten years, and shall also be liable to fine, if the act by which the death is caused is done with the intention of causing death, or of causing such bodily injury as is likely to cause death,

or with imprisonment of either description for a term which may extend to ten years, or with fine, or with both, if the act is done with the knowledge that it is likely to cause death, but without any intention to cause death, or to cause such bodily injury as is likely to cause death.

_______________________________

1. Subs. by Act 26 of 1955, sec. 117 and Sch., for transportation for life (w.e.f. 1-1-1956).

Offence Description Punishment provided Cognizable/Non-Cognizable

Culpable homicide not amounting to murder, if act by which the death is caused is done with intention of causing death, etc

If act is done with knowledge that it is likely to cause death, but without any intention to cause death, etc.

Imprisonment for life, or imprisonmenr for 10 years and fine.

Imprisonment for 10 years, or fine, or both.

Cognizable

Cognizable

Bailable/Non-Bailable Trial Court Details Compoundable/Non-Compoundable

Non-Bailable

Diito

Court of Session.

Court of Session.

Non-Compoundable
Compoundable by Whom Concerned Ministry Concerned Department
Non-Compoundable Ministry of Home Affairs Department of Internal Security

धारा 304 आईपीसी- हत्या की श्रेणी में न आने वाली गैर इरादतन हत्या के लिए दण्ड , IPC Section 304

जो कोई व्यक्ति गैर इरादतन हत्या (जो हत्या की श्रेणी मे नही आता) करता है अथवा ऐसा कोई कार्य करता है जो मृत्यु का कारण हो, जिसे मृत्यु देने के इरादे से किया गया हो, या ऐसी शारीरिक चोट जो संभवतः मृत्यु का कारण हो पहुचाने के लिए किया गया हो, तो उसे आजीवन कारावास की सजा दी जाएगी, या उस व्यक्ति को किसी एक अवधि के लिए कारावास की सजा होगी जिसे 10 साल तक बढ़ाया जा सकता है, और साथ ही वह आर्थिक दंड के लिए भी उत्तरदायी होगा,
या ज्ञान पूर्वक ऐसा कोई कार्य करता है जो संभवतः मृत्यु का कारण हो, लेकिन जिसे मृत्यु देने के इरादे, या ऐसी शारीरिक चोट जो संभवतः मृत्यु का कारण हो पहुचाने के लिए से न किया गया हो, तो उसे आजीवन कारावास की सजा दी जाएगी, या उस व्यक्ति को किसी एक अवधि के लिए कारावास की सजा होगी जिसे 10 साल तक बढ़ाया जा सकता है, और साथ ही वह आर्थिक दंड के लिए भी उत्तरदायी होगा।

अपराध सजा संज्ञेय जमानत विचारणीय

सदोष हत्या हत्या की राशि नहीं है, अगर अधिनियम है जिसके द्वारा मौत के कारण होता है मौत के कारण, आदि के इरादे से किया जाता है

यदि कार्य ज्ञान के साथ किया जाता है कि यह मृत्यु का कारण बनने की संभावना है, लेकिन मृत्यु आदि का कारण बनने के किसी भी इरादे के बिना

आजीवन कारावास या 10 साल + जुर्माना

10 साल या जुर्माना या दोनों

संज्ञेय

संज्ञेय

गैर जमानतीय

गैर जमानतीय

सत्र न्यायालय

सत्र न्यायालय

Tell us about you

Find us at the office

Eastmond- Sukel street no. 62, 79540 Hanga Roa, Easter Island

Give us a ring

Jaquelinee Wrate
+74 201 709 645
Mon - Fri, 9:00-15:00

Reach out